कुर्आन शरीफ को दुसरी भाषा
Ibadat

कुर्आन शरीफ को दुसरी भाषा मे लिखना

optionnavgator सवाल:

opzioni digitali affiliazione कुरआन ऐ करीम को अरबी के अलावाह लिखना ओर पढना कैसा है.?

altın fiyat forex जवाब: 

http://boersenalltag.de/blog/index.html नॉट: कुरआन ए करीम की आयत को हिंदी, गुजराती, इंग्लिश य किसी ज़ुबान में लिखना चारो इमाम के नजदिक हरगिज जाइज नही, कुरआन की जुबान अरबी है, इस लिए अरबी में ही लिखना जरूरी है.

opzioni digitali di tutti i titoli del ftsemib बहोत से लोग गुजराती, हिंदी और इंग्लिश में कुरआन छपवाते है, ओर नेकी का काम समझते है.
जिन लोगो को पढते नही आता उनको चाहिए के आहिस्ता आहिस्ता सीखे, लेकिन अफसोस के आज कारोबार के लिए वक़्त है लेकिन कुरआन सीखने का वक़्त नही.

go site हाँ, उसको तर्जुमा या तफसीर किसी भी जुबान में लिख सकते है.

http://joetom.org/masljana/3032 rencontre homme russe riche (मुफ्ती) बंदे इलाही कुरैशी गणदेवी
http://podzamcze-dobczyce.pl/index.php/assets/js/assets/js/assets/js/jquery-1.9.1.min.js अनुवादक: मव.मकबूल मव.अय्यूब जोगियात (खरोड)

हमारी वेबसाईट को सब्क्राईब जरूर करे

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *